लत

पुरानी लत था तू मेरी

मेरे वजूद के लिए ज़हर तेरा नशा

तेरी ही क़सम देकर इस दिल को

कह दिया तुझे अलविदा

तुझे कहाँ छोड़ता भला 

यह कमबख़्त दिल मेरा

पुरानी लत था तू मेरी

मेरे वजूद के लिए ज़हर तेरा ……….

Advertisements